Breaking News

दिल्ली दौरे पर हिमाचल CM सुखविंद्र सुक्खू, PM मोदी से भी मिलेंगे

हिमाचल में मंत्रिमंडल विस्तार पर जल्द हो सकता फैसला

हिमाचल डेस्क- हिमाचल में एक बार फिर से मंत्रिमंडल विस्तार पर जल्द फैसला हो सकता है। मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू दिल्ली दौरे पर हैं और इस पर केंद्रीय नेतृत्व से स्थिति साफ कर सकते हैं। कई बोर्डों और निगमों में अध्यक्षों और उपाध्यक्षों की नियुक्तियां होनी हैं। वह वहां केंद्रीय नेतृत्व से चर्चा कर सकते हैं।

डिप्टी सीएम मुकेश अग्निहोत्री शुक्रवार को पहुंचे दिल्ली

मुख्यमंत्री सुक्खू से पहले उप मुख्यमंत्री मुकेश अग्निहोत्री शुक्रवार को दिल्ली पहुंच गए थे। मुख्यमंत्री सुक्खू के नेतृत्व वाली सरकार में राज्य मंत्रिमंडल में अभी तीन मंत्रियों के पद रिक्त हैं। कई विधायक अपनी-अपनी पात्रता की बात कर इसके लिए लॉबिंग में जुट गए हैं। कोई मुख्यमंत्री सुक्खू से नजदीकियां बनाने की कोशिश कर रहा है तो कोई दिल्ली दरबार मेें भी हाजिरी लगा रहा है।

ये भी पढ़ें….ये तो ट्रेलर है अभी और चुनौतियां आएंगी, ये सनातन को मिटाने की साजिशें कर देंगे-बागेश्वर धाम सरकार

नाराज़ विधायकों ने राहुल से कही अपने मन की बात

भारत जोड़ो यात्रा के दौरान भी कुछ विधायकों ने राहुल गांधी से मन की बात कही है। राहुल गांधी और घुमारवीं के कांग्रेस विधायक राजेश धर्माणी की भी इस दौरान बातचीत हुई है। धर्माणी पात्र होने के बावजूद मंत्रिमंडल में स्थान न मिलने से निराश हैं, मगर माना जा रहा धर्माणी को कैबिनेट में जगह मिल सकती है।

खबरें और भी हैं……पहलवानों ने धरना किया ख़त्म :7 घंटे चली खेल मंत्री के साथ मीटिंग !

सियासी चर्चा हुई तेज

पिछली भाजपा सरकारों में मंत्री रहे रविंद्र सिंह रवि ने शनिवार को मुख्यमंत्री सुखविंद्र सिंह सुक्खू से भेंट की। इससे सियासी चर्चा तेज हो गई है। रविंद्र सिंह रवि का विधानसभा हलका देहरा से ज्वालामुखी के लिए बदला गया था, मगर इससे उनकी हार हो गई थी। शनिवार को रवि राज्य सचिवालय में सुक्खू से मिलने आए। उन्होंने सुक्खू को बुक्के भेंट किया। दोनों में अलग से गपशप भी हुई।

BITCOIN से जुड़ा हर लेटेस्ट UPDATE इस LINK पर पाएं….http://blognext.in

About Bhanu Sharma

Check Also

Farmers Protest

Farmers Protest: दिल्ली 1200 ट्रैक्टरों, बुलडोजरों के लिए तैयार, यातायात प्रभावित

Farmers Protest: सभी फसलों के लिए एमएसपी समर्थन की अपनी मांग पर दबाव बनाने के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *