Breaking News

हिमाचल में बिजली की चमक पड़ी फीकी,300 यूनिट निशुल्क बिजली का है इंतजार !

बिजली बोर्ड की अफसरशाही ने 125 यूनिट मुफ्त बिजली को भी बहुत से क्षेत्रों में किया बंद !

हिमाचल डेस्क – हिमाचल वासियों को 300 यूनिट निशुल्क बिजली का इंतज़ार है लेकिन उन्हें 125 यूनिट मुफ्त बिजली की सुविधा भी नहीं मिल पा रही है।हिमाचल प्रदेश में हुए चुनावों के बाद बनी कांग्रेस की नई सरकार के इस दौर में नीचे और मध्यम आय वर्गीय उपभोगताओ के लिये बिजली की चमक फीकी पड़ गई है। कांग्रेस ने अपनी 10 गारंटी में से एक 300 यूनिट बिजली मुफ्त देना शमिल था।

पिछली सरकार ने दी थी 125 यूनिट बिजली मुफ्त

कांग्रेस ने 300 यूनिट बिजली मुफ्त देने का वायदा प्रदेश की जनता से किया था,लेकिन नई सरकार के वक्त बिजली बोर्ड की अफसरशाही ने तो पिछली सरकार की 125 यूनिट मुफ्त बिजली को भी बहुत से क्षेत्रों में बंद कर दिया है.जिसकी वजह से हिमाचल की जनता में काफी रोष है। हिमाचल प्रदेश में 300 यूनिट निशुल्क बिजली के इंतजार के बीच हजारों घरेलू उपभोक्ताओं को 125 यूनिट मुफ्त बिजली का लाभ भी नहीं मिल रहा है।

ये भी पढ़ें….राहुल गांधी ने 2024 के चुनाव की पटकथा लिख दी !

घरेलू उपभोक्ताओं को 22 दिन में बिजली बिल हो रहे जारी

 

देश के ग्रामीण क्षेत्रों के घरेलू उपभोक्ताओं को 22 दिन में बिजली बिल जारी हो रहे हैं। इन उपभोक्ताओं को प्रतिमाह 90 यूनिट के बिल जारी हो रहे हैं। 88 यूनिट की बिजली खपत करने वाले उपभोक्ताओं को बिजली बिल नहीं दिए जा रहे हैं। कुल्लू, कांगड़ा, मंडी और हमीरपुर जिले में जारी हुए फरवरी के बिजली बिलों ने लोगों को डरा दिया है। प्रतिमाह 125 यूनिट निशुल्क बिजली के आड़े बोर्ड का बिलिंग सर्किल आ रहा है। बिजली बोर्ड के साॅफ्टवेयर में प्रतिदिन चार यूनिट तक घरेलू उपभोक्ताओं को निशुल्क सप्लाई देने की व्यवस्था की गई है। इस आधार पर जितने दिन का बिल जारी होगा, उसे चार से गुणा किया जाएगा।बिजली बोर्ड का यह फाॅर्मूला लोगों के गले नहीं उतर रहा है।

खबरें और भी हैं…हिंडनबर्ग से निपटने के लिए ये है अडाणी का ब्रह्मास्त्र !

खबरें और भी हैं…कांग्रेस की बर्बादी पर बड़े विश्वविद्यालयों में होगा शोध,बोले PM मोदी !

लोग कर रहे 125 यूनिट तक निशुल्क बिजली का इंतजार

लोग 125 यूनिट तक निशुल्क बिजली का इंतजार कर रहे हैं। जबकि, उन्हें बिल 90 यूनिट का भी अदा करना पड़ रहा है। उधर, बिजली बोर्ड के प्रबंध निदेशक पंकज डढवाल ने बताया कि साॅफ्टवेयर के माध्यम से प्रदेश में बिलिंग हो रही है। स्टाफ की कमी के चलते एक साथ प्रदेश के सभी घरेलू उपभोक्ताओं को बिजली बिल जारी नहीं किए जा सकते। इस कारण 30 और 22 दिन के बाद बिल जारी करने की प्रक्रिया शुरू की है। प्रतिदिन घरेलू उपभोक्ताओं को चार यूनिट बिजली निशुल्क दी जा रही है। 22 दिन के बिल में 88 यूनिट बिजली निशुल्क है। इससे अधिक यूनिट पर बिल जारी किए जा रहे हैं।

BITCOIN से जुड़ा हर लेटेस्ट अपडेट इस लिंक पर पाएं..http://blognext.in

हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें…https://www.youtube.com/@newsnext9968

About Bhanu Sharma

Check Also

Major fire in Rajkot TRP Game Zone

Major fire in Rajkot TRP Game Zone: भीषण आग में 35 लोगों की मौत के बाद राजकोट टीआरपी गेम जोन मैनेजर, पार्टनर को हिरासत में लिया गया

Major fire in Rajkot TRP Game Zone: गुजरात के राजकोट में एक गेमिंग ज़ोन में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *