Breaking News

Why is Nayab Saini Cabinet not being Expanded in Haryana?: हरियाणा में नायब सैनी कैबिनेट का क्यों नहीं हो पा रहा फैलाव?, जानिए क्या वजह आई सामने

Why is Nayab Saini Cabinet not being Expanded in Haryana?: हरियाणा में सीएम का आनन बदलते ही अब जल्दी ही मंत्रिमंडल में भी कई नये मुखड़ा होने की उम्मीद है। शनिवार को करीब सैनी मंत्रिमंडल का दायरा तय था। लेकिन यह संध्या, तक भी नहीं हो पाया। कहा जा रहा है कि भाजपा आला पिनाक से हरी झंडी तो मिल गई लेकिन हरियाणा के दो बड़े नेताओं की वजह से अभी भी हिस्सा बँटाई का प्रतीक्षा है।
हरियाणा के नये मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी के दृष्टि वाले मंत्रिमंडल विशाल को लेकर शनिवार का दिन बेहद उतार-चढ़ाव और भगदड़ भरा रहा। मंत्रिमंडल विशाल की आभास शुक्रवार रात 11 बजे से आगाज हुई थी, जो शनिवार शाम तीन बजे तक तब तक चली रही, जब तक केंद्रीय चुनाव निकम्मा ने लोकसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा नहीं कर दि।पूरे दिन की अभ्यास और प्रतीक्षा के बाद भी शनिवार को मंत्रिमंडल का विस्तार नहीं हो पाया। लोकसभा चुनाव का नियोजित घोषित होते ही मंत्री बनने की आस लगाए बैठ जाएं विधायक हतोत्साहित हो गए और अपने परिवार तथा सहयोगी के साथ वापस विधानसभा क्षेत्रों में चले गए। कुछ विधायक यकीन में अभी भी चंडीगढ़ में डटे हुए हैं।

सैनी की सरकार का प्रधान शनिवार को होना तह था।

शुक्रवार की रात्रि को हुई मुख्यमंत्री नायब सैनी और पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर लाल की भेंट के बाद यह तय हो गया था। रात को ही राजभवन को इसकी सूचना दे गई थी। जिन विधायकों को इस बार मंत्री बनाया जाना था, उनमें से कुछ के पास सूचना, चली गए थी तो कुछ को सिर्फ चंडीगढ़ पहुंचकर इंतजार करने के कहा गया था।

लेकिन पूरे दिन मंत्रियों के नाम तय करने पर ऐसा पेंच फंसा, जो शाम तक भी नहीं सुलझ सका सका। मंत्रियों के नाम तय करते समय जातीय साम्य अभ्यास में तो कठिनाई आई थीं, साथ ही केंद्रीय राज्य मंत्री राव इंद्रजीत की अभिरुचि-घृणा, पूर्व गृह मंत्री अनिल विज की नाखुशी और मंत्री नहीं बनने की ध्वनि के बाद अप्रसन्न हुए उम्मीदवार विधायकों की समानता ने मंत्रिमंडल विस्तार की गाड़ी को जाम कर दिया हैं।

भाजपा के विधायको की मीटिंग हुई Why is Nayab Saini Cabinet not being Expanded in Haryana?

कुछ भाजपा विधायकों ने भी पूरे दिन लाबिंग चलाई। अब जबकि चुनाव आचार संहिता लग चुकी है तो ऐसे में मंत्रिमंडल अच्छी तरह से संभावना अभी तक नजर नहीं आ रही है। यदि, विशेष बात यह है कि चुनाव आचार संहिता के बीच भी मंत्रिमंडल विशाल हो सकता है, लेकिन इसके लिए हरियाणा सरकार खासकर राज्यपाल को केंद्रीय चुनाव आयोग से इजाजत लेनी पड़ेगी। सीएम और पूर्व सीएम के बीच काफी देर तक बातचीत चलती रहीं।

प्रधान का दौरा Why is Nayab Saini Cabinet not being Expanded in Haryana?

टीवीएसएन अध्यक्ष सबसे पहले गए मुख्यमंत्री निवास,पर सैनी से मुलाकात की। इसके बाद वे राजभवन आए और काफी देर रुकना के बाद वापस लौट गए। फिर गुरुग्राम के भाजपा विधायक राजभवन पहुंचे और बयान दिया कि पूर्व गृह मंत्री नाराज हैं, जिन्हें जल्दी ही मना लिया जाएगा।

READ ALSO: Pradhan Mantri Suryoday Yojana: प्रधानमंत्री सूर्योदय योजना के लिए आवेदन करें कैसे, बचेगा बिजली बिल

READ ALSO: Randeep Hooda-Lin Laishram Marriage: शादी से पहले पहुंचे मणिपुर मंदिर रणदीप हुड्डा और लिन

About News Next

Check Also

'Haryana Mange Hisaab' Campaign

‘Haryana Mange Hisaab’ Campaign: हरियाणा कांग्रेस ने भाजपा सरकार की ‘विफलताओं’ को उजागर करने के लिए अभियान शुरू किया

‘Haryana Mange Hisaab’ Campaign: जन जागरूकता अभियान शुरू करते हुए हरियाणा कांग्रेस ने गुरुवार को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *