Breaking News

मिडल – ईस्ट के 4 देशों में भूकंप से भारी तबाही:,1200 मौतें,कई इमारतें धारशाई !

सीरिया,लेबनान और इजराइल में भी भूकंप के झटके किए गए महसूस !

मिडल – ईस्ट के 4 देशों में सोमवार सुबह यानि की आज भूकंप का जबरदस्त तांडव देखने को मिला। बता दें की नूर्दगी से 23 किलोमीटर पूर्व की ओर यह झटके महसूस किए गए। इसका असर सीरिया तक देखने को मिला। अब तक 1200 से अधिक मौतें इस आपदा से हो चुकी हैं।भूकंप की तीव्रता 7.8 मापी गई।

तुर्किये और सीरिया के इलाकों में भारी तबाही

बता दें कि मिडिल ईस्ट के चार देश तुर्किये, सीरिया, लेबनान और इजराइल सोमवार सुबह भूकंप से हिल गए। सबसे ज्यादा तबाही एपिसेंटर तुर्किये और उसके नजदीक सीरिया के इलाकों में देखी जा रही है। तुर्किये की सबसे बड़ी न्यूज वेबसाइट ‘अल सबाह’ के मुताबिक, देश में अब तक 912 लोगों की जान चली गई है। 5385 लोगों के घायल होने की खबर है।

ये भी पढ़ें….अडाणी ग्रुप पर हिंडनबर्ग की रिपोर्ट को लेकर संसद में जमकर हंगामा !

सीरिया में 386 लोगों की मौत

भूकंप से भारी तबाही तुर्किये के बाद सबसे ज्यादा सीरिया में देखी गई। बता दें की इस आपदा से सीरिया में 386 लोग मारे गए और 639 जख्मी हैं। दोनों देशों में मरने वालों की कुल संख्या करीब 1300 बताई गई है। लेबनान और इजराइल में भी झटके महसूस किए गए, लेकिन यहां नुकसान की खबर नहीं है।

BITCOIN से जुड़ा हर लेटेस्ट UPDATE इस लिंक पर पाए…. http://blognext.in

बड़ी बड़ी इमारतें पल में धाराशाई

दमिश्क​, ​​​​अलेप्पो, हमा,लताकिया समेत कई शहरों में इमारतें गिरने की खबर है। भूकंप का तांडव मिडल ईस्ट के चार देशों में देखने को मिला। बता दें किअब तक 1200 मौतें इस आपदा से इन देशों में हो चुकी हैं। हालाँकि अब तक मौतों का आंकड़ा और भी बढ़ सकता है। राहत बचाव कार्य जोरों -शोरों से जारी है।

पीएम मोदी ने जताई चिंता

भारत के पीएम ने तुर्कीये में आए भूकंप में जान गंवाने वालों को श्रद्धांजलि दी। बता दें कि पीएम ने इतनी ज्यादा मौतों पर दुःख व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि 140 करोड़ भारतीयों की संवेदनाएं तुर्किये के साथ हैं। भारत सरकार मदद के लिए राहत सामग्री के साथ NDRF और मेडिकल टीमों के खोज और बचाव दलों को तुर्की भेज रही है।

भूकंप के केंद्र के पास कई सीरियाई रिफयूजियों का डेरा

न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक, भूकंप का जो केंद्र है ,उसके पास यानी गाजियांटेप शहर में कई सीरियाई रिफ्यूजी रहते हैं। यूनाइटेड नेशन्स कमिशनर फॉर रिफ्यूजी के मुताबिक, दुनिया के सबसे ज्यादा रिफ्यूजी तुर्किये में रहते हैं। गाजियांटेप से ही इनकी मदद के लिए बड़े ऑपरेशन्स चलाए जाते हैं।

हमारे यूट्यूब चैनल को भी सब्सक्राइब करें….https://www.youtube.com/@newsnext9968

 

 

 

About Bhanu Sharma

Check Also

हरियाणा में अपराधियों द्वारा लूटपाट, फिरौती, मंथली व हत्याओं की वारदातें करने से जनता में सरकार के प्रति बड़ी भारी नाराजगी है- बजरंग गर्ग 

    सरकार अपराध पर अंकुश लगाने में पूरी तरह से फेल सिद्ध हुई है- …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *